शुगर मिल ने भुगतान की लिस्ट भेजी, नही पहुंचा बैंकों में पैसा

हापुड़ जिले में सिंभावली मिल ने 29 फरवरी 2019 तक के भुगतान की सूची बैंकों में उपलब्ध कराई थी। किसान जब अपना पैसा निकालने बैंक पहुंचे तो खातों में पैसा नहीं था। किसानों ने बताया कि बैके को मिल ने पैमेंट की लिस्ट तो भेज दी पर पैसा नही भेजा है। किसानों ने गन्ना विभाग के अधिकारी से शिकायत की लेकिन अधिकारी उनकी बात सुनने के लिए तैयार नही हैं।
आपको बता दे कि जिले के दोनों शुगर मिलों पर किसानों का वर्ष 2019-20 का करीब 227 करोड़ रुपए बकाया चल रहा है। शासन द्वारा 14 दिन के अंदर भुगतान का आदेश पहले ही किया जा चुका है। किसानों के अवशेष भुगतान पर ब्याज दिए जाने का भी प्रावधान है। लेकिन यहां ब्याज तो दूर किसानों को उनका मूल भी मिलना मुश्किल हो रहा है। सिम्भावली शुगर मिल ने बैंकों में 29 फरवरी तक के भुगतान की सूची उपलब्ध कराई थी। सूची जारी करने के बाद भुगतान करना भूल गया।
मेरठ जिले में स्थित नगलामल मिल ने 12 दिसंबर तक का भुगतान कर दिया है। लेकिन नानपुर के किसानों के खाते में अभी तक एक पैसा तक नही आया है। किसानों के साथ मिल मालिकों ने धोका किया है। किसानों ने जब इस मामले की जानकारी ली तो बताया गया कि उनका अकाउंट सिम्भावली मिल ने नगलामल को नही दिए हैं जिस कारण पैमेंट रोक दिया गया है। किसानों को मिल की लापरवाही के चलते मुसिबत उठानी पड रही है।