दिल्ली में बनी केजरीवाल की सरकार, 62 सीटों पर दर्ज की जीत

दिल्ली में एक बार फिर से केजरीवाल ने आप की सरकार बनाकर हेट्रीक लगाई है। केजरीवाल साल 2013 में पहली बार मुख्यमंत्री बने थे और उस चुनाव में आप ने सिर्फ 28 सीटे थीं। उन्होंने कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। गठबंधन की यह सरकार केवल 49 दिनों तक ही चल पाई थी। जिसके बाद 2015 में हुए चुनाव में आप ने 54.34 फीसदी वोट लेकर 70 में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की थी और मुख्यमंत्री बने थे। जबकि 2015 चुनाव में भाजपा ने 32.19 फासदी वोट लेकर 3 सीट हांसिल की थी। कांग्रेस ने 2015 में 9.65 फीसदी वोट लेकर एक भी सीट हांसिल नही कर पाई थी। 2020 चुनाव में आप ने 53.57 फीसदी वोट लेकर 62 सीट हांसिल की हैं। भाजपा ने 38.51 फीसदी वोट लेकर 8 सीटों पर जीत दर्ज की है। कांग्रेस 9.65 फीसदी वोट लेकर खाता नही खेल पाई है। काग्रेस के उम्मीदवारों की जमानत तक जब्त हो गई है।

672 उम्मीदवार मैदान में थे
आपको बता दें 2020 विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। बीजेपी ने 67 और कांग्रेस ने 66 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। इस चुनाव में कुल 672 उम्मीदवार मैदान में थे। इसमें 593 पुरुष और 79 महिला उम्मीदवार शामिल थीं। इस चुनाव में कुल 62.59 फीसदी मतदान हुआ, जबकि 2015 चुनाव में 67.49 फीसदी मतदान हुआ था।

दिल्ली की जनता ने जन्मदिन पर दिया विशेष तोहफा
मंगलवार को दिल्ली विधानसभा के नतीजे घोषित किए गए। जिसमें आप को पूर्ण बहुमत प्राप्त हुआ, आप ने 62 सीटे हांसिल की। मंगलवार को ही केजरीवाल की पत्नी का जन्मदिन था। केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी कार्यालय में अपनी पत्नी के जन्मदिन पर केक काटा। दिल्ली की जनता ने भी उनकी पत्नी को जन्मदिन पर बडा तोहफा दिया है। केजरीवाल ओर उनकी पत्नी ने दिल्ली की जनता को धन्यवाद दिया है।

भाजपा के ये उम्मीदवार जीते

  • बदरपुर से रामवीर सिंह विधुडी जीते
  • लक्ष्मीनगर से अभय वर्मा जीते
  • गांधी नगर से अनिल वाजपेयी जीते
  • विश्वास नगर से ओमप्रकाश शर्मा जीते
  • रोहिणी से विजेन्दग गुप्ता जीते
  • रोहतास नगर से जितेन्द्र महाजन जीते
  • घोंड़ा से अजय महावर जीते
  • करावलनगर सीट से मोहन विष्ट जीते